बैंकिंग एवं वित्तीय सचेतना – भाग 43

Site Administrator

08 Dec, 2013

685 Times Read.

बैंकिंग जागरूकता,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in English

Bharatiya-Mahila-bank-BMB

1) किसे भारत के पहले पूर्णतया महिलाओं के लिए संस्थापित किए जा रहे पहले बैंक – भारतीय महिला बैंक (BMB) की पहली अध्यक्षा तथा प्रबंध निदेशक (Chairperson and Managing Director) 12 नवम्बर, 2013 को नियुक्त किया गया? – ऊषा अनंतसुब्रह्मण्यम (ऊषा ने इसी दिन अपना कार्यभार भी ग्रहण कर लिया। अपनी नियुक्ति से पहले वे पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की कार्यकारी निदेशक (Executive Director) के पद पर कार्यरत थीं)

………………………………………………………………………………………………………………………………

2) 29 अक्टूबर, 2013 को RBI ने ग्राहकों द्वारा बैंक सम्बन्धी लेने-देन करने के समय बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली SMS सेवा के सम्बन्ध में क्या दिशानिर्देश जारी किया? – RBI ने अपने दिशानिर्देश में कहा कि इस सेवा के लिए एक फिक्स शुल्क वसूलने के बजाय SMS की संख्या के आधार पर ग्राहकों से शुल्क वसूला जाय (अपने दिशानिर्देश में RBI ने कहा कि SMS की संख्या के आधार पर शुल्क वसूलने से अधिक पारदर्शिता कायम होगी। उल्लेखनीय है कि RBI ने मार्च, 2011 में बैंकों को ग्राहकों द्वारा किए जाने वाले लेन-देन के बारे में उन्हें SMS से सूचित करने के बारे में दिशानिर्देश जारी किया था लेकिन तब इस सेवा के शुल्कों के बारे में कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किया गया था)

………………………………………………………………………………………………………………………………

3) RBI के गवर्नर रघुराम राजन द्वारा 29 अक्टूबर, 2013 को प्रस्तुत की गई दूसरी तिमाही की मौद्रिक समीक्षा में बैंकों को ब्याज देने की समयावधि में बदलाव करने की अनुमति प्रदान करने का दिशानिर्देश दिया। इस दिशानिर्देश के बाद अब वाणिज्यिक बैंक बचत बैंक खाते तथा सावधि जमा रखने वाले अपने ग्राहकों को जल्दी तथा कम अवधि में ब्याज का भुगतान कर पायेंगे। वर्तमान में बैंकों द्वारा ब्याज भुगतान करने की क्या व्यवस्था चल रही है? – वर्तमान में बैंक अपने ग्राहकों को तिमाही अथवा इससे इससे अधिक समयावधि में ब्याज भुगतान करते हैं (उल्लेखनीय है कि RBI ने वर्ष 2011 में वाणिज्यिक बैंकों द्वारा ग्राहकों को बचत खातों पर दिए जा रहे ब्याज को नियंत्रण-मुक्त कर बैंकों को अपनी इच्छानुसार ब्याज यह करने की स्वतंत्रता प्रदान की थी)

………………………………………………………………………………………………………………………………

4) भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के गवर्नर रघुराम राजन ने 29 अक्टूबर, 2013 को अक्टूबर माह की मौद्रिक समीक्षा प्रस्तुत करते हुए रेपो दर (Repo Rate) में 25 बेसिस अंक की वृद्धि करने की घोषणा की। इससे रेपो दर 7.75% हो गई है। RBI द्वारा रेपो दर में वृद्धि करने का मुख्य कारण क्या है? – पिछले कुछ माह से मुद्रास्फीति में वृद्धि होना (उल्लेखनीय है कि सितम्बर में जहाँ थोक मूल्य सूचकांक (WPI) पर आधारित मुद्रास्फीति बढ़कर 6.46% तक पहुँच गई वहीं खुदरा मूल्य सूचकांक (CPI) पर आधारित मुद्रास्फीति 9.84% हो गई। यह दोनों आंकड़े RBI की संतुष्टि सीमा से ऊपर हैं। रेपो दर वह दर होती है जिसपर वाणिज्यिक बैंक RBI से कम समयावधि के कर्ज प्राप्त करते हैं)

………………………………………………………………………………………………………………………………

5) भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के गवर्नर रघुराम राजन ने 29 अक्टूबर, 2013 को अक्टूबर माह की मौद्रिक समीक्षा प्रस्तुत करते हुए मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलिटी (Marginal Standing Facility – MSF) को 25 बेसिस अंक घटा कर 8.75% करने की घोषणा की। MSF को घटाने का रेपो दर की दृष्टि से क्या महत्व रहा? – इससे रेपो दर और MSF के बीच का अंतर पुन: 100 बेसिस अंक रह गया है जिससे यह संकेत मिलता है कि वित्तीय बाजारों में स्थितियां सामान्य हो रही हैं (MSF बैंकों के लिए एक आपातकालीन खिड़की के रूप में काम करती है जिसका सहारा बैंक नकद की कमी के समय करते हैं)

………………………………………………………………………………………………………………………………

6) भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने 6 नवम्बर, 2013 को भारत में कार्यरत विदेशी बैंकों के पूर्ण स्वामित्व वाले सहयोगी प्रतिष्ठानों को भारत के निजी क्षेत्र के बैंकों का अधिग्रहण करने तथा भारत में किसी भी स्थान पर अपनी शाखाएं खोलने की अनुमति प्रदान कर दी। इसके अलावा RBI ने इनके शेयर भारतीय स्टाक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध करने की अनुमति भी दे दी। विदेशी बैंकों के ऐसे सहयोगी प्रतिष्ठान भारत के निजी बैंकों की अधिकतम कितनी हिस्सेदारी का अधिग्रहण कर सकते हैं? – 74% (क्योंकि बैंकिंग क्षेत्र में अधिकतम विदेशी हिस्सेदारी की अधिकतम वैधानिक सीमा 74% ही है)

………………………………………………………………………………………………………………………………

7) राष्ट्रीय सैम्पल सर्वे संगठन (NSSO) द्वारा वर्ष 2009-10 में समाप्त हुई पांच वर्षों की अवधि के दौरान देश में रोजगार की स्थिति से सम्बन्धित 26 अक्टूबर, 2013 को जारी आंकड़ों के अनुसार इस समयावधि के दौरान देश की बेरोजगारी दर क्या रही? – 2.8% (उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व की पांच वर्ष की समयावधि के दौरान देश की बेरोजगारी दर 3.8 प्रतिशत रही थी। उल्लेखनीय है कि रोजगार सम्बन्धित यह आंकड़े NSSO द्वारा जुलाई 2009 से जून 2010 के दौरान एकत्रित आंकड़ों पर आधारित पांच-वर्षीय सर्वे पर आधारित हैं)

………………………………………………………………………………………………………………………………

8) राष्ट्रीय सैम्पल सर्वे संगठन (NSSO) द्वारा 26 अक्टूबर, 2013 को जारी किए गए रोजगार के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2009-10 में समाप्त हुई पांच वर्षीय समयावधि के दौरान भारत के किस शहर में सर्वाधिक बेरोजगारी दर रिकार्ड की गई? – पटना (बिहार की राजधानी पटना की बेरोजगारी दर इस समयावदि के दौरान 13.2% रही। वहीं उत्तर प्रदेश का शहर कानपुर को सर्वाधिक बेरोजगारी दर में दूसरे स्थान पर रखा गया तथा इस समयावधि के दौरान यहाँ की बेरोजगारी दर 7.7% रही)

………………………………………………………………………………………………………………………………

9) राष्ट्रीय सैम्पल सर्वे संगठन (NSSO) द्वारा 26 अक्टूबर, 2013 को जारी किए गए रोजगार के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2009-10 में समाप्त हुई पांच वर्षीय समयावधि के दौरान भारत के किस शहर में न्यूनतम बेरोजगारी दर रिकार्ड की गई? – भोपाल (मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की बेरोजगारी दर इस समयावदि के दौरान मात्र 0.1% रही। वहीं गुजरात के शहर सूरत को न्यूनतम बेरोजगारी दर में दूसरे स्थान पर रखा गया तथा इस समयावधि के दौरान यहाँ की बेरोजगारी दर 0.6% रही)

………………………………………………………………………………………………………………………………

10) रिलायंस इण्डस्ट्रीज़ (RIL) के मालिक मुकेश अम्बानी 21 अरब डालर की सम्पत्ति के साथ लगातार छठवें साल भारत के सबसे धनी व्यक्ति हैं। फोर्ब्स (Forbes) पत्रिका द्वारा जारी इस सूची में दूसरा स्थान प्रवासी भारतीय स्टील उद्यमी लक्ष्मी मित्तल को दिया गया है जिनकी सम्पत्ति 16 अरब डालर है। कौन सा उद्योगपति आईटी दिग्गज कम्पनी विप्रो के मालिक अजीम प्रेमजी को चौथे स्थान पर धकेल कर तीसरा स्थान हासिल करने में सफल हुआ है? – दिलीप सांघवी (सन फार्मा के मालिक दिलीप सांघवी की सम्पत्ति में इस वर्ष लगभग 50 प्रतिशत का इजाफा हुआ है तथा यह बढ़कर 13.9 अरब डालर हो गई है, जबकि अजीम प्रेमजी की सम्पत्ति 13.8 अरब डालर रही। इस सूची में पालूनजी मिस्त्री को पांचवां स्थान (12.5 अरब की सम्पत्ति), हिंदूजा बंधुओं को छठवां स्थान (9 अरब की सम्पत्ति), HCL के शिव नादर को सातवां स्थान (8.6 अरब की सम्पत्ति), अदी गोदरेज को आठवाँ स्थान (8.3 अरब की सम्पत्ति), कुमार मंगलम बिड़ला को नौवां स्थान (7.6 अरब की सम्पत्ति) तथा एयरटेल के सुनील मित्तल को दसवां स्थान (6.6 अरब की सम्पत्ति) मिला है)

………………………………………………………………………………………………………………………………

Responses on This Article

Previous Responses on This Article

  1. vipin8p says:

    very good

© NIRDESHAK. ALL RIGHTS RESERVED.